बुधवार, 20 जनवरी 2016

Richest beggars of India

भारत के " रईस " भिखारी

एक दिन मोबाइल पर मित्र मंडली का whats app मैसेज आया जिसमें एक भिखारी के विषय में लिखा था कि वो इतने हज़ार रूपये महीने कमाता है ! माथा ठनक गया - यार इंजीनियरिंग करने के बाद हमें क्या मिलता है ? और इसे ! तो क्या भिखारी बन लिया जाए ? लेकिन सबकी ऐसी किस्मत कहाँ होती हैं ? भिखारी को मैं उस सेल्स ऑफिसर से ज्यादा योग्य मानता हूँ जो गंजे को कंघी बेच देता है लेकिन भिखारी बिना कुछ बेचे आपकी जेब से पैसे निकलवा लेता है ! कौन ज्यादा टैलेंटेड हुआ ? भिखारी इस दुनियां का सबसे सम्मानित व्यक्ति होना चाहिए , वो बिना किसी कोर्स के , बिना किसी इन्वेस्टमेंट के इतना कुछ कर डालता है , इतना कुछ कमा लेता है ! वो ही एक ऐसा व्यक्ति है जो गरीब से गरीब आदमी को कुछ पल के लिए " अमीर " बन जाने का एहसास दिलाता है ! जब वो आपसे कहता है -बाबू जी अल्लाह के नाम पर कुछ दे दो तब आप कितने ही गरीब सही , आपको लगता है आपसे भी गरीब कोई है ! भले वास्तव में वो गरीब हो या न हो ! तो अब भिखारी होना आईआईटी और आईआईएम के मुकाबले का प्रोफेशन हो गया है ! इस प्रोफेशन के प्लस पॉइंट ज्यादा हैं जैसे आईआईटी और आईआईएम पास आउट लोगों को अपना जॉब करने के लिए कंपनी ढूंढनी होती है , मैट्रो सिटीज में आना होता है , एक घर होता है , बॉस की डांट झेलनी होती है लेकिन भिखारी बनकर आप कुछ दिनों बाद ही अपने बॉस हो जाते हैं , आप को बस भीड़ वाला इलाका चाहिए होता है !

आइये भारत के कुछ अमीर भिखारियों की बात करते हैं :


1 . भारत जैन : इनकी सबसे पहले बात करना इसलिए जरुरी जाता है क्योंकि इन्होने केवल 49 साल की उम्र में वो मुकाम हासिल किया है जो बड़े बड़े अधिकारी और मैनेजर लोग नही कर पाते ! भाईसाब 75 , 000 रूपये महीना कमाते हैं और मुंबई के परेल में रहते हैं ! इनके पास 70 लाख की कीमत वाले दो फ्लैट हैं लेकिन जहां ये काम करते हैं वहां से इनका घर दूर पड़ता है इसलिए वीकली ही घर आते हैं ! घर में बीवी और दो बच्चे हैं जिनमें से बेटी कर्णाटक में इंजीनियरिंग पढ़ती है ! भाईसाब ने अपनी एक दूकान भी किराये पर लगा रखी है जिससे इन्हें 10 ,ooo रूपये महीना मिलता है ! भारत की अपनी फैमिली स्टेशनरी का बिजनेस करती है लेकिन ये भाईसाब अपने इस काम को छोड़ना नही चाहते !






ये हैं भारत जैन

और इस  बिल्डिंग में है इनका फ्लैट



2 . कृष्ण कुमार गीते : ये भाईसाब लगभग 1500 रूपये प्रतिदिन कमाते हैं लेकिन हिसाब किताब में कुछ कच्चे हैं इसलिए इनका भाई इनका बिजनेस संभालता है ! इनका ऑफिस मुंबई के चरनी रोड के पास CP टैंक है ! इनके पास नाला सोपारा में अपना एक तीन कमरों का फ्लैट है !







3. मासू : मासू मुंबई के दादर में भीख मांगते हैं। करीब 40 साल से भीख मांग रहे मासू प्रतिदिन 1000 रूपये से लेकर 1500 रूपये तक आसानी से कमा लेते हैं और दम पर इनके पास 50 लाख की प्रॉपर्टी है ! इनके काम के घंटे सिर्फ आठ हैं यानी सुबह 10 बजे से शाम छः बजे तक ! मासू या मलाना ज्यादातर महंगे रेस्तौरेंट्स के बाहर भीख मांगता है जहां शराब पिए हुए फिल्म स्टार झूमते हुए उसे 1000 तक का नोट पकड़ा जाते हैं ! मासू अपने घर से एकदम किसी प्रोफेशनल की तरह सुईटेड बूटेड होकर ऑटो रिक्शा पकड़ता है और अपने काम की जगह से पहले ऑटो में ही अपने कपडे बदलता है !





4 . सर्वतीया देवी : किसी हिंदी फिल्म की तरह पॉपुलर पटना की लेडी भिखारिन सर्वतीया देवी यहां के अशोक सिनेमा के ही पीछे रहती हैं और प्रतिवर्ष 36000 रूपये का बीमा भरती हैं ! उन्होंने अपनी बेटी की शादी , पुणे की एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में कार्यरत इंजीनियर से की है ! सर्वतीया देवी ज्यादातर ट्रेन में भीख मांगती हैं और वो कहती हैं कि ऐसे बिना टिकट ट्रेन में यात्रा करना और फिर एक निश्चित तक जाने में जो आनंद और जो पैसा मिलता हैं वो कहीं और संभव नही ! 







5 . पप्पू भिखारी : इलाहबाद के पप्पू भिखारी का जिक्र न किया जाए तो उसकी क्षमताओं को नजरअंदाज करना कहा जाएगा ! इन भाईसाब के पंजाब नेशनल बैंक , स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया , बैंक ऑफ़ बड़ोदा तथा इलाहबाद बैंक में अकाउंट हैं और लगभग सवा करोड़ रुपया इनके अकाउंट में है ! इसके अलावा उनके पास खेती योग्य दो बीघा जमीन भी है तथा बेटा इंग्लिश मीडियम स्कूल में पढता है ! 





6 . संभाजी काले : आइये इनसे मिलें ! ये अपनी फैमिली के चारों सदस्यों के साथ मुंबई के खार इलाके में भीख मांगने का धंधा करते हैं और आराम से 1000 हजार रूपये कमा लेते हैं ! इनके पास मुंबई के विरार में एक फ्लैट तथा सोलापुर में दो मकान हैं !





7 . रहमान और फातिमा : मुंबई के ही कल्याण बस्ती में रहने वाले रहमान और फातिमा भीख मांगते हैं लेकिन पैसे बैंक में नही रखते बल्कि घर में बोरी में भर देते हैं ! लेकिन एक दिन झोंपड़ी में आग लग गयी जिस वजह से उनकी दो बोरियां जलकर ख़ाक हो गयीं ! 






8 . लक्ष्मी देवी : ये भी मुंबई की प्लेयर हैं और लगभग 16 वर्ष की उम्र से 1964 से इस धंधे में हैं ! करीब 35 लाख रूपये बैंक में हैं इनके और आज भी इनकी दिहाड़ी 1000 -1500 रूपये है !!





भिखारी बनने के ख्वाब देखने में कोई बुराई तो नहीं ?



एक टिप्पणी भेजें